रायपुर का मामला:कोरोना संक्रमित का अंतिम संस्कार रोकने पुलिस से भिड़ गईं महिलाएं, विरोध करने वालों के खिलाफ अब एफआइआर दर्ज

फोटो रायपुर की है। संक्रमित व्यक्ति का अंतिम संस्कार रोकने के लिए लोग जमा हो गए, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को भी अनदेखा किया गया।
  • बीते दो दिनों में रायपुर संभाग में 20 कोरोना संक्रमितों की मौतें हुईं
  • प्रदेश में कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा रायपुर में मौतें हुई हैं

कोरोना संक्रमण से मरने वाले लोगों को मौत के बाद भी सम्मान नसीब नहीं हो रहा। संक्रमण के डर से शहर के कुछ श्मशान घाट में लोग अंतिम संस्कार नहीं होने दे रहे। लाश लिए परिजन या प्रशासनिक अफसरों को भटकना पड़ता है। ऐसा ही रविवार को भी हुआ था। मामले में अब अंतिम संस्कार होने से रोकने वालों के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। घटना बोरियाखुर्द इलाके में हुई थी। कोरोना संक्रमित को अंतिम संस्कार के लिए लाया गया था, लेकिन आसपास के लोगों ने हंगामा कर दिया। पुलिस कर्मचारियों से महिलाएं भिड़ गईं और लाश को ले जाने की बात कहने लगीं।

मामले में पुलिस ने सूर्यकांत निर्मलकर, गोविंद चक्रधारी, शिवराम साहू, तनू सोनी और इनके साथियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। काफी देर तक समझाने के बाद लोग शांत हुए और पुलिस को हावी होता देख लोगों ने जिद छोड़ी। लोग इस बात से डरे हुए हैं कि संक्रमित के अंतिम संस्कार से इलाके में कोरोना बीमारी फैल जाएगी। बीते दो दिनों में रायपुर में 20 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। ऐसा ही विवाद रायपुर के मारवाड़ी श्मशान घाट में भी हो चुका है। इस मामले में भी पुलिस ने केस दर्ज किया था।

रायपुर में ही सबसे ज्यादा संक्रमण और सबसे अधिक मौतें
प्रदेश में बीते 24 घंटे में 24 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। इनमें 10 मामले में रायपुर के थे। अब तक रायपुर में कुल 200 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। सरकारी आंकड़ों की मानें तो कोरोना से 73 लोगों की मौत हुई, बाकी लोगों को अन्य गंभीर बीमारियां जैसे डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, ब्रेन हैमरेज, अस्थमा, हार्ट प्रॉब्लम थीं। प्रदेश में अब तक कुल 380 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। रायपुर में दो दिनों में 1 हजार से अधिक संक्रमित मिले, इस शहर में अब तक 16 हजार से अधिक लोक संक्रमित हो चुके हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2