बप्पा की विदाई:सोसाइटी और घरों में विसर्जन कर संकल्प लिया कि इसी मिट्टी का करेंगे पौधरोपण में उपयोग

खारुन विसर्जन कुंड में सोमवार से ही लोग गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए पहुंचने लगे। मंगलवार से पंचक लगने की वजह से लोगों ने एक दिन पहले ही प्रतिमाओं का विसर्जन शुरू कर दिया है। निगम की ओर से अगले चार दिनों यानी 4 सितंबर तक यहां प्रतिमाओं के विसर्जन की व्यवस्था की गई है। पिछले साल तक कुंड में करीब 8000 प्रतिमाओं का विसर्जन होता था।
  • महादेवघाट स्थित विसर्जन कुंड में निगम की ओर से विशेष व्यवस्था

राजधानी में स्थापना के 10वें दिन ज्यादातर लोगों ने गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन कर दिया। क्योंकि मंगलवार से भद्रा लगने के कारण विसर्जन शुभ नहीं माना जाता। नम आंखों से लोगों ने बप्पा को विदा किया। ज्यादातर लोगों ने दैनिक भास्कर के अभियान मिट्टी के गणेश, घर में ही विसर्जन से प्रेरणा लेकर रेसिडेंशियल सोसाइटी और घरों में ही भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन किया। गणेशोत्सव में रविवार को ही घरों में विशेष पूजा-अर्चना के साथ ही स्रोत व गणेश चालीसा का पाठ किया गया। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण के खात्मे के लिए प्रार्थना की गई। सोशल मीडिया में लोग गणेश विसर्जन की फोटाे शेयर कर रहे है। लोगों ने घर में ही इको फ्रेंडली मूर्तियों का विसर्जन कर मिट्टी का उपयोग पौधरोपण करने का संकल्प लिया गया। बड़े गमले, टब और पानी टंकियों में लोगों ने विसर्जन किया। कोरोना के चलते लोग तालाब या विसर्जन कुंड की ओर नहीं गए। बूढ़ातालाब में विसर्जन के लिए आई शहरभर की मूर्तियों को ले जाने निगम की ओर से ट्रक की व्यवस्था की गई। ताकि मूर्तियों को महादेवघाट ले जाया गया। वहीं शहर के तालाबों में भी छोटी मूर्तियों का विसर्जन का सिलसिला भी चलता रहा। महादेवघाट में मूर्ति विसर्जन के लिए निगम की ओर से विशेष व्यवस्था की गई है। यहां शहर की सार्वजनिक गणेशोत्सव समितियों की मूर्तियों का विसर्जन किया जा रहा है।

विसर्जन के लिए कुंड के पास रहेंगे 10 पंडित

निगम कमिश्नर ने गणेश विसर्जन के लिए अलग-अलग लोगों की टीम बनाई है, जो चारों दिन व्यवस्था में रहेंगे। कमिश्नर ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल व शासन के निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए हैं। खारुन नदी के किनारे बने विसर्जन कुंड में गणेश विसर्जन से पहले पूजा के सामान अलग कर लिए जाएंगे। निगम की ओर से विसर्जन के लिए पंडितों की भी व्यवस्था की गई है। संस्कृत महाविद्यालय के 10 पंडित गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन में लोगों की मदद करेंगे। कमिश्नर ने प्रशासनिक व्यवस्था के तहत एक समिति गठित की है।

समिति में अधीक्षण अभियंता बीआर अग्रवाल मो. 9301953225, नगर निवेष सहायक अभियंता निशिकांत वर्मा मो. 8349864868, जोन 8 कमिश्नर अरूण ध्रुव मो. 9424238392, जोन 6 कमिश्नर दिनेश कोसरिया मो. 7691903630, स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तृप्ति पाणिग्रही मो. 7869925079, कार्यपालन अभियंता जल बीएल चंद्राकर मो. 9301953236 शामिल हैं। अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य मो. 7000078488 व अधीक्षण अभियंता बीआर अग्रवाल मो. 9301953225 नोडल अधिकारी बनाए गए हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2