सिपाहियों का वेतन बढ़ाने की मांग:केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने मुख्यमंत्री बघेल को पत्र लिखा, कहा- पुलिस कांस्टेबल का वेतन ग्रेड 2800 रुपए किया जाए

पुलिस कांस्टेबल के वेतन बढ़ाने की मांग तेज हो गई है। सिपाहियों की मांगों का समर्थन करते हुए अब केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा।
  • अभी सिपाहियों को मिलता है 1900 रुपए ग्रेड, लिखा- इन्हें आधारभूत सुविधाएं भी प्राप्त नहीं
  • जान जोखिम में डालकर कर रहे हैं ड्यूटी, वेतन भत्ता कम होने के कारण बैंक से लोन को मजबूर

छत्तीसगढ़ में पुलिस कांस्टेबल के वेतन बढ़ाने की मांग तेज हो गई है। सिपाहियों की मांगों का समर्थन करते हुए अब केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह और कांकेर से सांसद मोहन मंडावी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि सिपाहियों का वेतन ग्रेड 1900 रुपए से बढ़ाकर 2800 रुपए किया जाना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री सिंह ने पत्र में लिखा कि हर परिस्थितियों में पुलिस अपनी जान जोखिम में डालकर तैनात रहती है। कोविड-19 में दी गई सेवाएं इसका उदाहरण है। सिपाही 12 से 18 घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इनका वेतन और भत्ता बढ़ाने की मांग लंबे अरसे से की जा रही है। आधारभूत सुविधाएं भी नहीं मिलने से इनका परिवार प्रभावित हो रहा है।

कांकेर सांसद ने कहा- सिपाहियों की भूमिका महत्वपूर्ण
कांकेर सांसद मोहन मंडावी ने भी सिपाहियों के वेतन वृद्धि के मामले में मुख्यमंत्री बघेल को चिट्ठी लिखी। इसमें कहा गया कि कानून व्यवस्था बनाए रखने में सिपाहियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। कड़ी ड्यूटी देने के बावजूद मिलने वाला वेतन ग्रेड बेहद कम है। इनके पारिवारिक, सामजिक और आर्थिक स्थिति को विशेष रूप से देखने की जरूरत है।

कांग्रेस विधायक ने कहा- पुलिसकर्मियों के खुदकुशी के मामले बढ़े
पुलिस कांस्टेबलों के वेतन ग्रेड बढ़ाए जाने को नारायणपुर से कांग्रेस विधायक चंदन कश्यप भी समर्थन दे चुके हैं। पिछले दिनों मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में उन्होंने कहा था, दूसरा व्यवसाय भी पुलिसकर्मी नहीं कर सकते। मांगों के लिए प्रदर्शन की अनुमति भी नहीं है। ऐसे में वह अवसाद ग्रस्त होते जा रहे हैं। उनके आत्महत्या के बढ़ते मामले यह बताते हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2