छत्तीसगढ़ में कोरोना:2284 नए केस, राजनांदगांव डीन व दुर्ग जेल में 21 कैदी संक्रमित; स्वास्थ्य मंत्री ने कहा - टेस्ट बढ़ेंगे तो केस भी बढ़ेंगे पर मृत्यु दर नियंत्रित

राजधानी में गुरुवार को 712 और प्रदेश में कोरोना के 2284 नए मरीज मिले हैं। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. रेणुका गहने भी कोरोना से संक्रमित हो गई हैं। अब प्रदेश में मरीजों की संख्या 37969 हो गई है। एक्टिव केस 18702 है। 18950 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जो कुल मरीजों के आधे से अधिक हैं। पिछले 24 घंटे में 730 मरीजाें काे डिस्चार्ज किया गया, जिसमें रायपुर के 228 मरीज हैं। इस दौरान प्रदेश में 16 लोगों की जान गई है, जिसमें 10 रायपुर के हैं। कोरोना से अब तक प्रदेश में 316 और राजधानी में 165 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। राजधानी में संक्रमण बढ़ने की वजह से यहां कुल मरीजों की संख्या 14164 हो गई, जिसमें साढ़े 7 हजार से ज्यादा लोग कोविड सेंटरों और अस्पतालों में भर्ती हैं। राजधानी के बाद रायपुर जिले के अभनपुर, तिल्दा, आरंग व धरसींवा ब्लॉक में भी मरीज बढ़ने लगे हैं।

लगातार केस बढ़ने के बाद अब वार्डों में मोबाइल वैन से जांच की जा रही है। जिन्हें सर्दी, खांसी, बुखार व सांस लेने में दिक्कत है, उनकी जांच प्राथमिकता से हो रही है। निजी अस्पतालों में भी टेस्ट शुरू होने से राहत मिली है। रायपुर में गुरुवार को पारसनगर, बैरनबाजार, रावांभाठा, चंदखुरी, हसदा, कचना, मठपुरैना के मरीजों की मौत हुई है। इसके अलावा दुर्ग से 4, जांजगीर-चांपा व जशपुर में एक-एक मरीजों की मौत हुई है। नए मरीजों में जांजगीर-चांपा से 112, राजनांदगांव से 92, गरियाबंद से 69, बिलासपुर से 64, महासमुंद से 53, कोरिया से 32, दुर्ग से 31, रायगढ़ से 21, धमतरी से 17, कवर्धा से 14, बालोद से 13, बस्तर से 6, मुंगेली व सरगुजा से 4-4, अन्य राज्य से दो, बेमेतरा, बलौदाबाजार व कोंडागांव से एक-एक मरीज मिले हैं।

अंबेडकर अस्पताल में साढ़े 12 बजे तक नहीं खुला सैंपल सेंटर
अंबेडकर अस्पताल के कोरोना ओपीडी स्थित सैंपल सेंटर गुरुवार को दोपहर 12 बजे तक नहीं खुला हुआ था। कई जूनियर डॉक्टर व स्टाफ ड्यूटी छोड़कर सैंपल देने आए थे, लेकिन उन्हें निराशा हुई। अपने ही अस्पताल प्रबंधन पर वे नाराज थे। स्टाफ का कहना है कि संक्रमण के दौर में समय पर सैंपल न लेना अखरता है। शिकायत किससे करें, ये पता नहीं था। अस्पताल प्रबंधन से शिकायत की तो बताया कि वहां मेडिकल काॅलेज का स्टाफ है। ऐसे में समय निकल गया और बिना सैंपल दिए चले गए।

टेस्ट बढ़ेंगे तो केस भी बढ़ेंगे, पर मृत्यु दर नियंत्रित: सिंहदेव
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि ज्यादा मरीजों की जांच होगी तो केस भी तेजी से बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में 20 हजार टेस्ट रोज होंगे तो ऐसे में केस और तेजी से बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि सितंबर के तीसरे सप्ताह तक इसकी रफ्तार कम हो सकती है। लेकिन बाद में इसमें तेजी आने की संभावना है। गुरुवार को मीडिया से बातचीत में सिंहदेव ने कहा कि दो हफ्ते के भीतर संक्रमण की रफ्तार कम हो सकती है। उन्होंने कहा कि जांच बढ़ने की वजह से मरीजों की संख्या बढ़ी है, लेकिन मृत्यु दर नियंत्रित है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2