सिस्टम में संक्रमण:ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर के 10 हजार मांगे, मार्केट में रेट 4000, नहीं खरीदे तो मरीज को घर से ले गए

नयापारा में 3 केस मिल चुके, नपा टीम सैनिटाइज करती हुई।
  • घर में ही इलाज, दूसरी तरफ हकीकत कुछ और, ऐसे में कैसे करा सकेंगे होम आइसोलेशन में रहकर इलाज

भले ही शासन के आदेश पर जिले में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन में रहकर इलाज कराने के दावे किए जा रहे हैं लेकिन हकीकत कुछ और ही है।
भास्कर ने होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों व उनके परिवार के लोगों से चर्चा कर वास्तविकता जाना। होम आइसोलेशन के दौरान ऑक्सी मीटर, थर्मल स्कैनर जरुरी है लेकिन इसे कहीं से भी खरीद सकते है। जबकि एक मरीज के परिजन का कहना है कि विभाग ने दोनों उपकरण की कीमत 10 हजार रुपए के आसपास बताकर खरीदने कहा और जब मार्केट में रेट पता किए तो 4 हजार में मिल रहा था। विभाग से उपकरण नहीं खरीदे तो मरीज को घर से सरकारी सेंटर में ले गए।
6 हजार रु. का अंतर, मना करने के बाद घर से ले गए, जहां है, वहां तो चेकअप नहीं हो रहा: कोरोना पॉजिटिव महिला के बेटे ने भास्कर को बताया कि बाल मंदिर बालोद में एंटीजन रैपिड टेस्टिंग किट से कोरोना जांच हुई तो मम्मी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जब वह घर में अलग कमरे में थी, तब विभागीय टीम के लोगों ने कहा कि डेली चेकअप के लिए ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर मशीन लेना पड़ेगा। रेट पूछने पर बताया गया कि 10 हजार रु. के आसपास आएगा। मैंने मार्केट में रेट पता किया तो दोनों की कीमत लगभग 4 हजार रु. बताया। इसकी जानकारी देकर कहा कि अब कल से रिपोर्टिंग देना स्टार्ट कर दूंगा तो उसके बाद फोन आ गया कि नहीं, ऊपर से ऑर्डर आ गया है, सेंटर ले जाएंगे अब, आप लोग सही ढंग से नहीं कर पा रहे हो फिर 15 मिनट बाद गाड़ी आई और मम्मी को सरकारी सेंटर ले गई। जब होम आइसोलेट कर दिए, 2 दिन तक रही भी, सामने रेड कलर की पर्ची भी लगा दिए तो कैसे ले गए समझ ही नहीं आया। वहां ले भी गए है तो रोजाना चेकअप नहीं हो रहा है। इसकी जानकारी मम्मी से बात करने पर हुई। उनका हर चीज नार्मल है। लक्षण नहीं है। जिस दिन पॉजिटिव आई थी, हल्की बुखार थी, शाम को सब नार्मल हो गया। 6 हजार रुपए का अंतर बहुत होता है।
ऑनलाइन सर्च किए तो समझ में आया: बेटे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से कॉल आया था। दोनों उपकरण की कीमत 10 हजार रुपए तक आने की बात बताई गई। ऑनलाइन सर्च कर देखा तो 500 से 1500 तक ऑक्सीमीटर उपलब्ध था। मेडिकल स्टोर में दोनों उपकरण की कीमत 4 हजार रु. के आसपास ही बताई गई। सीएमएचओ का कहना है कि इस मामले में ज्यादा जानकारी नहीं है। संबंधितों से पूछने के बाद ही कुछ बता पाएंगे कि होम आइसोलेशन के बाद सेंटर में मरीज को क्यों ले गए।

जानिए, आखिर क्यों जरूरी है यह दोनों मशीन
1. ऑक्सीमीटर- ऑक्सीजन लेवल मापने के लिए उपयोग होता है। पल्स ऑक्सीमीटर मरीज की स्थिति को गंभीर होने से बचाने में मदद करता है। यह उपकरण मरीज को गंभीर स्टेज में जाने से पहले अलर्ट कर देता है।
2. थर्मल स्कैनर- एक ऐसा डिवाइस जो शरीर के तापमान को दर्ज कर एक थर्मल इमेज तैयार करता है। यदि किसी व्यक्ति के शरीर का तापमान सामान्य से अधिक होता है तो यह आवाज के माध्यम से बता देता है।

गाइडलाइन में यह निर्देश
शासन के निर्देश पर बिना लक्षण वाले व बिना किसी पुरानी बीमारी से ग्रसित कोरोना पॉजिटिव मरीजों को घर पर ही होम आइसोलेट रहकर उपचार व स्वास्थ्य लाभ लेने की छूट दी गई है। शासन के अनिवार्य प्रोटोकाल का पालन करना होगा। मरीज के घर में अलग हवादार कमरे, अलग शौचालय, किचन व हाल के अतिरिक्त न्यूनतम 3 अतिरिक्त कमरा होना जरुरी है। घर में कोई भी व्यक्ति बीमार या गर्भवती महिला नहीं होनी चाहिए।

जानिए, यह है सच्चाई... सभी कह रहे ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर चार हजार रुपए से कम में मिला
26 अगस्त को शहर के नयापारा में 51 वर्षीय महिला की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जो 26 व 27 अगस्त को घर में ही रही। घर वालों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से कहा गया कि ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर मशीन लेना पड़ेगा, लगभग 10 हजार रुपए खर्च आएगा। मार्केट में यह 3500-4000 रु. में था। महिला को 28 अगस्त की शाम को पाकुरभाट आइसोलेशन सेंटर में शिफ्ट किया गया।

27 अगस्त को अर्जुन्दा में मिले कोरोना पॉजिटिव बच्ची होम आइसोलेशन में है। उनकी मां व पिता ने बताया कि विभाग की ओर से दवाई दी गई है। ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर की व्यवस्था खुद किए है। ऑक्सीमीटर लगभग 1800 रुपए में आया और थर्मल स्कैनर 2000 से 2500 रुपए तक मिल जाता है। वह एक पहचान वाले से लिए है। फोन के माध्यम से विभाग के अफसर जानकारी ले रहे हैं।

26 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव मिले दल्लीराजहरा वन विभाग के रेंजर होम आइसोलेशन में है। उन्होंने बताया कि मैं बिल्कुल स्वस्थ हूं, रोजाना व्यायाम कर रहा हूं। कोई भी लक्षण नहीं है। मार्केट में ऑक्सीमीटर 1000-1200 रु. तक आ जाता है। मेरे पास यह था। बुखार चेकअप करने थर्मल स्कैनर जो मार्केट में 1500 से 1700 रु. तक मिल जाता है। इसकी जरूरत नहीं पड़ी।

मेडिकल स्टोर में 4 हजार से कम में यह मिल जाएगी
आईएमए अध्यक्ष डॉ. प्रदीप जैन ने बताया कि ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर दोनों किसी भी मेडिकल स्टोर में आसानी से 4 हजार रुपए से कम में मिल जाएगा। होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे पॉजिटिव मरीजों के लिए यह जरुरी है। ताकि रोजाना अपडेट जानकारी विभागीय अफसरों को दे सकें।

सीएमएचओ बोले- सच क्या है पता करवाते हैं
सीएमएचओ डॉ. बीएल रात्रे ने बताया कि बीएमओ से मैं इस बारे में पता किया था तब जानकारी मिली थी कि दूसरे दिन जरुरी उपकरण लाकर दिया था लेकिन लेने से इंकार कर दिया। मानक हिसाब से ही उपकरण दिए होंगे। वास्तविकता क्या है, पता करवाते हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2