ये कैसी मरम्मत:दो दिनों की बारिश में ही उखड़ गई टायरिंग गड्‌ढों के बीच ढूंढ़नी पड़ रही हाईवे की सड़क

कोरबा-चांपा मार्ग की 10 करोड़ से करा रहे मरम्मत, पीडब्ल्यूडी को मिले 14 करोड़, बारिश के बाद बनेगी नई सड़क

जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली सभी सड़कें बारिश में फिर से खराब हो गई हैं। कोरबा-चांपा मार्ग की 10 करोड़ में मरम्मत कराई जा रही है। लेकिन दो दिनों की बारिश में टायरिंग पूरी तरह उखड़ गई। लोगों को गड्‌ढों के बीच सफर करना पड़ रहा है। दर्री से छुरी, कटघोरा मार्ग की हालत भी पहले की तरह हो गई है। चांपा मार्ग के पीडब्ल्यूडी के हिस्से की सड़क भी खराब है। नई सड़क बनाने के लिए 14 करोड़ रुपए की मंजूरी मिली है। लेकिन नई सड़क बनाने के लिए दो महीने इंतजार करना पड़ेगा। निगम क्षेत्र की सड़क भी चलने लायक नहीं है। अभी बारिश का एक महीना बाकी है। सड़कों में पानी भरने से आगे और समस्या बढ़ेगी। सड़कों की हालत दो साल से खराब है। मरम्मत के लिए योजना तो बनी पर कोरोना संक्रमण को रोकने लॉकडाउन की वजह से काम ही नहीं कराया गया। बारिश शुरू होने के बाद एनएचएआई व पीडब्ल्यूडी ने काम शुरू किया, लेकिन बारिश की वजह कोई फायदा नहीं हुआ। सड़कों की हालत फिर से पहले जैसी हो गई है। करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी लोगों की राह आसान नहीं है। सबसे खराब हालत कोरबा चांपा मार्ग की ही है। जिसकी मरम्मत 15 दिन पहले ही हुई थी।

कोरबा-चांपा: शहर से निकलते ही होता है गड्‌ढों से सामना
कोरबा-चांपा मार्ग पर गोमाता चौक से बरबसपुर तक सड़क उखड़ गई है। उरगा के पास सड़क के ऊपर पानी बह रहा है। पहंदा से लैंको प्लांट पताढ़ी तक नए सिरे से टायरिंग कराई गई थी वह भी उखड़ने लगी है। बरपाली में तो बड़े बड़े गड्‌ढे हो गए हैं। मड़वारानी पुल से लेकर कोथारी तक सड़क ढूंढ़ना पड़ता है।

कोरबा से दर्री : कोहड़िया पुल पर गड्‌ढों से होती है परेशानी
कोरबा से दर्री जाना आसान नहीं है। सीएसईबी चौक से दर्री बराज के बीच बन रहे फोरलेन की वजह से छोटे वाहन ही आवाजाही कर रहे हैं। लेकिन कोहड़िया पुल व फिल्टर प्लांट के सामने नहर मार्ग कीचड़ में तब्दील हो गया है। राताखार मार्ग पहले से ही दलदल बन गया है। लोग बालको होकर दर्री जाते हैं लेकिन रिंग रोड की सड़क भी उखड़ने लगी है।

कटघोरा-सुतर्रा: बाइपास बंद, शहर में बढ़ा दबाव
कटघोरा बाइपास पर पतरापाली अहिरन नदी पुल क्षतिग्रस्त होने की वजह से 15 दिनों के लिए भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। एक साल बाद फिर से कटघोरा नगर में भारी वाहन दौड़ने लगे हैं। सड़क पहले से ही खराब है। इससे लोगों की परेशानी और भी बढ़ गई है। कीचड़ के बीच लोगों को आवाजाही करनी पड़ रही है।

चैतमा से पाली: नाली बनने के बाद भी पानी भरा
चैतमा से आगे डूमरकछार तक सड़क की मरम्मत का काम शुरू किया गया था। लेकिन बारिश की वजह से सड़क फिर से उखड़ गई है। पाली में पीडब्ल्यूडी ने सड़क किनारे पानी निकासी के लिए नाली का निर्माण कराया है। अभी भी काम चल रहा है। इसके बाद भी सड़क में पानी भरने से कीचड़ हो गया है। भारी वाहनों की वजह से गिट्टी उखड़ने लगी है।

बारिश के बाद नए सिरे से बनाएंगे सड़क: ईई
पीडब्ल्यूडी के ईई एके वर्मा का कहना है कि बारिश रुकने पर लगातार सड़कों की मरम्मत करा रहे हैं ताकि लोगों को परेशानी न हो। बारिश के बाद नए सिरे से सड़क का निर्माण कराएंगे। कोरबा चांपा मार्ग में अभी भी काम चल रहा है। बारिश में टायरिंग सफल नहीं हो पाता। जिसकी वजह से ही परेशानी आ रही है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2