रायपुर में ऑनलाइन ठगी:लॉकडाउन में तलाश रहे थे नौकरी; काम मिला तो ठीक से नहीं करने पर कोर्ट केस की धमकी दी, वसूल लिए सवा लाख से ज्यादा रुपए

  • तेलीबांधा क्षेत्र में प्राइवेट कंपनी के असिस्टेंट अकाउंटेंट ने ऑनलाइन वेबसाइट पर आवेदन किया था
  • एप के जरिए वीडियो शेयर करने का काम मिला था, एक माह बाद कहा गया- कंपनी का अनुबंध तोड़ा है

कोरोनाकाल में कई लोगों की नौकरी चली गई। कई बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं या नई नौकरी की तलाश में हैं। छत्तीसगढ़ के रायपुर में लॉकडाउन के दौरान ऐसे ही एक युवक से ऑनलाइन ठगी हो गई। वेबसाइट के जरिए उन्हें काम तो मिला, लेकिन फिर काम करने के तरीके में गड़बड़ी बताकर केस करने की धमकी दी और सवा लाख रुपए वसूल लिए। युवक ने तेलीबांधा थाने में एफआईआर दर्ज कराई है।

सेविया सिक्योरिटी सर्विस से आया काम के लिए ईमेल
जानकारी के मुताबिक, मौलीपारा निवासी राजेश साहू एक प्राइवेट कंपनी में असिस्टेंट अकाउंटेंट हैं। मई माह में ऑनलाइन एक वेबसाइट पर नौकरी के लिए आवेदन किया था। इसके बाद सेविया सिक्योरिटी सर्विस नाम की एक कंपनी से ईमेल आया और उन्हें एक एप के जरिए वीडियो शेयर करने का काम दिया गया। इसके बाद वे लगातार काम करते रहे।

एक माह बाद गुजरात के कोर्ट में केस की धमकी दी गई
करीब एक माह बीत जाने के बाद उन्हें कंपनी की ओर से अलग-अलग कॉल आए। कहा गया कि वो ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कंपनी के अनुबंध का पालन भी नहीं किया है। इसके चलते गुजरात के कोर्ट में केस किया जा रहा है। केस का डर दिखाकर बचने के लिए राजेश साहू से 1.35 लाख रुपए खाते में ट्रांसफर करा लिए गए।

पुलिस ने बैंक से ट्रांजेक्शन और खाते की डिटेल मांगी
इसके बाद वे पुलिस के पास पहुंचे और संजय सोनी, प्रियंका शर्मा, नेहा शर्मा और सिद्धार्थ सोनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। शुरुआती जांच में पता चला कि सभी आरोपी लखनऊ के रहने वाले हैं। फिलहाल आरोपियों के खाते और मोबाइल नंबर की पुलिस जांच कर रही है। साथ ही बैंक से ट्रांजेक्शन की जानकारी मांगी गई है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2