गौरेला-पेंड्रा-मरवाही:अवैध संबंध के चलते पति की हत्या करा दी; एक्सीडेंट दिखाने के लिए सड़क किनारे फेंकी बाइक और शव

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में एक महिला ने अवैध संबंधों के चलते अपने पति की हत्या करा दी। फिर एक्सीडेंट का रूप देने के लिए शव को सड़क किनारे फिंकवा दिया। पुलिस ने महिला सहित 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 
  • गौरेला क्षेत्र के औद्योगिक क्षेत्र की घटना, 16 अगस्त को हर्राटोला में मिला था युवक का शव
  • महिला समेत 6 आरोपी गिरफ्तार, वारदात में प्रयुक्त रॉड, आरोपियों के मोबाइल और वाहन जब्त

छत्तीसगढ़ के नवनिर्मित जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में एक महिला ने अवैध संबंधों के चलते अपने पति की हत्या करा दी। फिर एक्सीडेंट का रूप देने के लिए शव को सड़क किनारे फिंकवा दिया। युवक का शव 16 अगस्त को हर्राटोला में पड़ा मिला था। गौरेला थाना पुलिस ने बुधवार देर शाम महिला समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मामा की बाइक लेकर ससुराल जाने निकला था, फिर नहीं लौटा
जानकारी के मुताबिक, कदमसरा निवासी दुर्गेश पनिका 15 अगस्त को मेडुका निवासी अपने मामा सुपेत लाल पनिका की बाइक लेकर ससुराल कोरजा जाने के लिए निकला था। इसके बाद न तो वह घर लौटा और न ही ससुराल पहुंचा। अगले दिन पता चला कि हर्राटोला के पास सड़क किनारे खेत में और वहीं दुर्गेश का शव पड़ा है। इस पर एफआईआर दर्ज कराई गई। इस पर पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

भाई और प्रेमी से कहा-उसका कुछ करो, नहीं तो मुझे भूल जाओ
पुलिस ने इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पता चला कि दुर्गेश की पत्नी कामता बाई का तिरथ कांशीपुरी से 3-4 साल से प्रेम संबंध था। एक दिन दुर्गेश ने कामता को तिरथ से बात करते हुए देख लिया और मारपीट की। कामता ने अपने भाई गिरधारी के मोबाइल से कॉन्फ्रेंस कॉल कर तिरथ को बताया कि शराब पीकर दुर्गेश उसे रोज पीटता है। उसका कुछ करो, नहीं तो मुझे भूल जाओ।

पैसा लेने के बहाने तिरथ ने दुर्गेश को गौरेला बुलाया
इस पर तिरथ ने पतेरटोला के सन्नी उर्फ दिलीप सारीवान से मिलकर दुर्गेश की हत्या का षड्यंत्र रचा। दुर्गेश को पैसा लेने के बहाने 15 अगस्त की शाम गौरेला बुलाया। वहां ओवरब्रिज पर अपने अन्य साथी जयप्रकाश उर्फ मोनू पवन सिंह मार्को , सन्नी व रितेश के साथ मिलकर दुर्गेश को अंजनी औद्योगिक क्षेत्र के पीछे बगरंडा प्लाट पर ले गए। वहां शराब पीते समय दुर्गेश के सिर पर पीछे से हमला कर दिया।

एक्सीडेंट का रूप देने की कोशिश कर रहे थे, अन्य वाहन आने पर भागे
हत्या के बाद तिरथ अपने घर चला गया। पवन मिनी ट्रक लेकर पहुंचा और उसमें दुर्गेश का शव डाल दिया। जबकि बाइक जयप्रकाश चलाते हुए हर्राटोला पहुंचे। यहां पर सड़क किनारे बाइक और शव फेंक दिया। उसे सड़क हादसे का रूप देने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान दूसरी ओर से एक अन्य वाहन आता देख शव और बाइक छोड़कर दोनों भाग निकले।

मोबाइल कॉल डिटेल से ट्रेस कर पकड़े गए आरोपी
दुर्गेश के मोबाइल कॉल डिटेल और लोकेशन से उसके औद्योगिक क्षेत्र में होना सामने आया। यह भी पता चला कि दुर्गेश की अपने साले गिरधारी से बात हुई थी। संदेह के आधार पर गिरधारी की कॉल डिटेल ट्रेस से तिरथ से वारदात के कुछ समय पहले तक बात होना सामने आई। संदेह के आधार पर पूछताछ की गई तो मामले का खुलासा हो गया। हालांकि एक आरोपी चिंगराजपारा बिलासपुर निवासी रितेश वर्मा फरार है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2