कार्रवाई:जशपुर से अगवा हुई 9 साल की बच्ची 24 घंटे बाद धरमजयगढ़ के जंगलों में मिली; घर के बाहर खेलते वक्त साइकिल पर बिठाकर ले गया बदमाश

छत्तीसगढ़ के जशपुर में पत्थलगांव से सोमवार दोपहर को अगवा हुई 9 साल की बच्ची प्रियंका 24 घंटे बाद मंगलवार को धरमजयगढ़ के जंगलों में मिली है।
  • पत्थलगांव थाना क्षेत्र में सोमवार दोपहर हुई थी घटना, रात को दर्ज कराई गई एफआईआर
  • बदमाश ने पहले दिया खिलौने का लालच, फिर मछली पकड़ने की बात कहकर साथ ले गया

छत्तीसगढ़ के जशपुर में पत्थलगांव से सोमवार दोपहर को अगवा हुई 9 साल की बच्ची प्रियंका 24 घंटे बाद मंगलवार को धरमजयगढ़ के जंगलों में मिली है। पुलिस ने बच्ची का मेडिकल कराने के बाद उसे परिजनों को सौंप दिया है। हालांकि बच्ची को अगवा करने वाले का पता नहीं चल सका है। सीसीटीवी फुटेज में एक अधेड़ के साथ बच्ची जाती हुई दिखाई दी थी।

दरअसल, पत्थलगांव क्षेत्र निवासी 9 साल की प्रियंका एक्का सोमवार दोपहर को अपने बड़े भाई प्रकाश के साथ घर के बाहर खेल रही थी। इस दौरान एक साइकिल सवार अधेड़ पहुंचा और दोनों को खिलौने और साइकिल देने का लालच दिया। इसके बाद प्रियंका को पास के पैसे और खिलौनों का लालच देकर अपने साथ ले गया। शाम काे माता-पिता के लौटने पर बड़े भाई ने जानकारी दी।

घटना के समय माता-पिता मजदूरी करने गए थे
प्रियंका के माता-पिता मजदूरी करते हैं। घटना के समय भी दोनों एक किसान के खेत पर काम करने गए थे। शाम को लौटे तो प्रियंका नहीं दिखाई दी। इस पर उन्होंने प्रकाश से पूछा तो उसने घटना के बारे में बताया। पहले तो परिजन आस-पास तलाश करते रहे, लेकिन जब प्रियंका का पता नहीं चला तो रात करीब 8 बजे पुलिस को सूचना दी।

रायगढ़ की ओर जाने की सूचना पर तीन टीमें बनाई गईं

पुलिस ने सभी ओर नाकेबंदी कर जांच शुरू कर दी थी। इस दौरान पुलिस को सूचना मिली की बच्ची को रायगढ़ की ओर जाते देखा गया है। जिसके बाद पुलिस ने तीन टीम का गठन किया। एक टीम रायगढ़ की ओर बच्ची की तालाश में निकली थी। मंगलवार को धरमजयगढ़ से आगे सोखामुडा गांव के जंगल में पुलिस ने प्रियंका को सकुशल बरामद कर लिया।

सीसीटीवी कैमरा से हुआ खुलासा
जशपुर रोड स्थित मैरिज गार्डन के पीछे रहने वाले मजदूर दंपति की 9 वर्षीय पुत्री प्रियंका की खोजबीन में सीसीटीवी फुटेज कारगर साबित हुई। पुलिस ने मैरिज गार्डन के आस-पास लगे कैमरों की फुटेज खंगाली तो प्रियंका को साइकल सवार एक अधेड़ के पीछे जाते देखा। बताया जाता है कि वही प्रियंका को खिलौना और पैसे का लालच देकर अपने साथ दूर ले जाकर उसका अपहरण कर लिया था।

रुचिका का नही सुलझा मामला
करीब ढाई माह पहले 24 जून को महादेव टिकरा में रहने वाली 4 साल की बच्ची रुचिका भारद्वाज के गुम होने की गुत्थी अब भी अनसुलझी है।जिसके कारण सोमवार को गुम हुई प्रियंका के अपहरण को भी पूर्व के मामले से जोड़कर देखा जा रहा था। रुचिका भारद्वाज भी इसी तरह गायब हो चुकी है। उसका अब तक कोई सुराग नहीं लग पाया है।

बच्ची का मेडिकल कराकर उसे परिजनों को सौंप दिया गया है। आरोपी की तालाश की जा रही है। उसके पकड़े जाने के बाद अपहरण के कुछ पुराने मामलो की गुत्थी सुलझाने में मदद मिल सकती है।

- बालाजी राव, पुलिस अधीक्षक, जशपुर।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2