कोरोना में टमाटर पर 'लाल' हुई राजनीति:छत्तीसगढ़ में 580 रुपए पर सियासत, क्रेट और किलो का विवाद; बारिश और बाढ़ ने बढ़ाए सब्जियों के भाव

ये तस्वीर छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित शास्त्री मार्केट की है। बारिश और बाढ़ के चलते सब्जियों के दाम आसमान को छू रहे हैं। दुकानदारों का कहना है कि बाहर से आवक नहीं होने के कारण दाम बढ़े हैं।
  • भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जी पर गड़बड़ी का लगाया आरोप
  • कांग्रेस का पलटवार, कहा- भूपेश सरकार की गलतियां तलाश करने की हडबड़ी में भाजपा का गणित गड़बड़ा गया है

बारिश और बाढ़ ने रायपुर सहित छत्तीसगढ़ में सब्जियों के भाव बढ़ा दिए हैं। ऐसे में टमाटर के किलो और क्रेट के भाव पर राजनीति 'लाल' हो गई है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कांकेर के एक क्वारैंटाइन सेंटर में 580 रुपए किलो टमाटर खरीदने की बात कही है। वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा है, भूपेश सरकार की गलतियां तलाश करने की हडबड़ी में भाजपा का गणित गड़बड़ा गया है।

कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जियों के इसी बिल को लेकर है विवाद।
कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जियों के इसी बिल को लेकर है विवाद।

क्वारैंटाइन सेंटर के बिल में धनिया व टमाटर के आगे सी1 लिखा है
दरअसल, इस पूरे मुद्दे की शुरुआत भाजपा विधायक अजय चंद्राकर के ट्वीट से हुई। कांकेर के एक क्वारैंटाइन सेंटर का बिल सामने आने के बाद राजनीति गरमा गई। बिल में सब सब्जियों के दाम तो किलो में लिखे हैं, लेकिन धनिया और टमाटर के दाम के आगे सी 1 लिखा है। यह बिल अप्रैल माह का है और उस समय सब्जियों के दाम काफी कम थे। टमाटर तो सिर्फ 10 किलो के भाव में मिल रहा था।

भाजपा विधायक बोले- बाकी सब्जियों का रेट सरकार उजागर करे
इसको लेकर भाजपा विधायक चंद्राकर ने रविवार देर शाम ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- विधानसभा सत्र के दौरान कोरोना में लंबी-लंबी भाषण देने वाली ये सरकार, क्या इस घटना की जांच कराने के लिए इनमें थोड़ी बहुत भी नैतिकता है? उन्होंने आगे लिखा और पूछा है कि अगर टमाटर 580 रुपए किलो की दर से है तो बाकी सब्जियों का भी रेट क्या है। इसको सरकार उजागर करे।

कांग्रेस बोली- सरकार के जनहित कार्यों से भाजपा नेताओं के पेट में दर्द, फैला रहे भ्रामक खबरें
कांग्रेस ने इस पर पलटवार करते हुए भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा, गांव गरीब और किसानों के लिए समर्पित सरकार के जनहित के कार्यों से भाजपा नेताओं के पेट में दर्द हो रहा है। वह बिना सोचे समझे भ्रामक खबरों से सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। 580 रुपए किलो टमाटर की खबर फैलाने वाले यह भी नहीं देख पाए की यह कीमत 1 कैरेट की है या 1 किलो की।


कोरोना में टमाटर पर 'लाल' हुई राजनीति:छत्तीसगढ़ में 580 रुपए पर सियासत, क्रेट और किलो का विवाद; बारिश और बाढ़ ने बढ़ाए सब्जियों के भाव

9 मिनट पहले
ये तस्वीर छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित शास्त्री मार्केट की है। बारिश और बाढ़ के चलते सब्जियों के दाम आसमान को छू रहे हैं। दुकानदारों का कहना है कि बाहर से आवक नहीं होने के कारण दाम बढ़े हैं।
  • भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जी पर गड़बड़ी का लगाया आरोप
  • कांग्रेस का पलटवार, कहा- भूपेश सरकार की गलतियां तलाश करने की हडबड़ी में भाजपा का गणित गड़बड़ा गया है

बारिश और बाढ़ ने रायपुर सहित छत्तीसगढ़ में सब्जियों के भाव बढ़ा दिए हैं। ऐसे में टमाटर के किलो और क्रेट के भाव पर राजनीति 'लाल' हो गई है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कांकेर के एक क्वारैंटाइन सेंटर में 580 रुपए किलो टमाटर खरीदने की बात कही है। वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा है, भूपेश सरकार की गलतियां तलाश करने की हडबड़ी में भाजपा का गणित गड़बड़ा गया है।

कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जियों के इसी बिल को लेकर है विवाद।
कांकेर के क्वारैंटाइन सेंटर के लिए खरीदी गई सब्जियों के इसी बिल को लेकर है विवाद।

क्वारैंटाइन सेंटर के बिल में धनिया व टमाटर के आगे सी1 लिखा है
दरअसल, इस पूरे मुद्दे की शुरुआत भाजपा विधायक अजय चंद्राकर के ट्वीट से हुई। कांकेर के एक क्वारैंटाइन सेंटर का बिल सामने आने के बाद राजनीति गरमा गई। बिल में सब सब्जियों के दाम तो किलो में लिखे हैं, लेकिन धनिया और टमाटर के दाम के आगे सी 1 लिखा है। यह बिल अप्रैल माह का है और उस समय सब्जियों के दाम काफी कम थे। टमाटर तो सिर्फ 10 किलो के भाव में मिल रहा था।

छत्तीसगढ़ के कुरुद से भाजपा विधायक अजय चंद्राकर का ट्वीट
छत्तीसगढ़ के कुरुद से भाजपा विधायक अजय चंद्राकर का ट्वीट

भाजपा विधायक बोले- बाकी सब्जियों का रेट सरकार उजागर करे
इसको लेकर भाजपा विधायक चंद्राकर ने रविवार देर शाम ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- विधानसभा सत्र के दौरान कोरोना में लंबी-लंबी भाषण देने वाली जी सरकार, क्या इस घटना की जांच कराने के लिए इनमें थोड़ी बहुत भी नैतिकता है? उन्होंने आगे लिखा और पूछा है कि अगर टमाटर 580 रुपए किलो की दर से है तो बाकी सब्जियों का भी रेट क्या है। इसको सरकार उजागर करे।

कांग्रेस बोली- सरकार के जनहित कार्यों से भाजपा नेताओं के पेट में दर्द, फैला रहे भ्रामक खबरें
कांग्रेस ने इस पर पलटवार करते हुए भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा, गांव गरीब और किसानों के लिए समर्पित सरकार के जनहित के कार्यों से भाजपा नेताओं के पेट में दर्द हो रहा है। वह बिना सोचे समझे भ्रामक खबरों से सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। 580 रुपए किलो टमाटर की खबर फैलाने वाले यह भी नहीं देख पाए की यह कीमत 1 कैरेट की है या 1 किलो की।

रायपुर में आसमान को छूने लगे सब्जियों के भाव

सब्जियांआज का भावपहले के दाम
आलू40 रुपए किलाे35 रुपए किलो
टमाटर80 रुपए किलो55 रुपए किलो
लौकी60 रुपए किलो30 रुपए किलो
कुंदरू60 रुपए किलो40 रुपए किलो
भिंडी80 रुपए किलो40 रुपए किलो
बैगन80 रुपए किलो30 रुपए किलो
शिमला मिर्च100 रुपए किलो60 से 80 रुपए किलो

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2