जगदलपुर में भ्रष्टाचार:खादी ग्रामोद्योग का सहायक संचालक नितिन बैस 5 हजार की घूस लेते गिरफ्तार; पीएम रोजगार निर्माण कार्यक्रम के तहत लोन देने के लिए मांगे थे रुपए

  • एसीबी ने कोंडागांव स्थित आवास से रंगे हाथ पकड़ा, योजना की नोडल एजेंसी है खादी ग्रामोद्योग
  • आरोपी सहायक संचालक ने सब्सिडी लोन के एवज में मांगे थे 30 हजार रुपए, 15 हजार में तय हुई थी बात

छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में एसीबी ने खादी ग्रामोद्योग के सहायक संचालक नितिन बैस को घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी ने प्रधानमंत्री रोजगार निर्माण कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत सब्सिडी लोन पास कराने की एवज में रुपए मांगे थे। एसीबी टीम ने पहली किश्त के 5 हजार रुपए लेते पकड़ा है।

जानकारी के मुताबिक, केशकाल निवासी जुबेर मेमन ने प्रधानमंत्री रोजगार निर्माण कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत लोन के लिए आवेदन किया था। इसके लिए उसका संपर्क खादी ग्रामोद्योग के सहायक संचालक नितिन बैस से हुआ। आरोप है कि उसने लोन पास कराने की एवज में 30 हजार रुपए रिश्वत की मांग की।

हालांकि सब्सिडी वाले लोन के लिए दोनों के बीच 15 हजार रुपए देना तय हुआ। इसके बाद जुबेर ने एसीबी से शिकायत कर दी। एसीबी ने मामले का सत्यापन कराया। इसकी पुष्टि होने पर ट्रैप का आयोजन किया। पहली किश्त के रूप में 5 हजार रुपए देने के लिए जुबेर को आरोपी ने अपने कोंडागांव स्थित आवास पर बुलाया। वहीं एसीबी ने उसे पकड़ लिया।

सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों के लिए है योजना
यह योजना ऋण से जुड़ा हुआ सब्सिडी कार्यक्रम है। इसे सूक्ष्म, लघु और मझौले उद्योगों के लिए उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से लागू किया गया है। योजना के अनुपालन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर खादी एवं ग्रामीण उद्योग आयोग (केवीआईसी) नोडल एजेंसी हैं। इसके चलते जुबेर ने सब्सिडी लोन के लिए वहां आवेदन किया था।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2