छत्तीसगढ़ में कोरोना:अब तक 100 लोगों की मौत, 477 नए मरीज, रायपुर एडीएम की पत्नी आईएएस के बच्चे भी संक्रमित

कालीबाड़ी कोविड सेंटर में जांच के लिए लगी भीड़। इस दौरान न लाइन है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग। फोटो-भूपेश केशरवानी
  • 29 मई को हुई थी पहली मौत, एक दिन में प्रदेश में 3 मौतें, 208 डिस्चार्ज

रायपुर में सोमवार को कोरोना के 219 समेत प्रदेश में 477 नए मरीज मिले हैं। रायपुर में पदस्थ एडीएम की पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रविवार को देवेंद्रनगर आफिसर कॉलोनी में रहने वाले जिस आईएएस की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, उनके दो बच्चे, दो नौकर व 7 अन्य भी कोरोना से संक्रमित हो गई हैं। प्रदेश में अब तक तीन आईएएस कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। रविवार को रायपुर व कोरबा के एक-एक आईएएस संक्रमित हुए थे। दूसरी ओर रायपुर के निजी अस्पताल, दुर्ग व बिलासपुर में कोराेना संक्रमित एक-एक मरीज की मौत भी हुई है। इस मौत के साथ प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 100 पहुंच गई है। जबकि मरीजों की संख्या 12627 हो गई है। एक्टिव केस 3509 है। सोमवार को 208 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। अब तक 9017 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। अभी तक 3.81 लाख सैंपलों की जांच की जा चुकी है।
नए मरीजों में दुर्ग से 40, महासमुंद से 20, राजनांदगांव से 15, जांजगीर-चांपा से 12, नारायणपुर से 11, जशपुर से 9, बेमेतरा व सरगुजा से 7-7, बिलासपुर से 6, कोंडागांव, सुकमा व बीजापुर से 4-4, गरियाबंद, बलौदाबाजार व रायगढ़ से 3-3, बालोद व कांकेर से 2-2, धमतरी, बलरामपुर, दंतेवाड़ा व अन्य राज्य से एक-एक मरीज मिले हैं। लालपुर के निजी अस्पताल में मंडला के 58 वर्षीय व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ के बाद भर्ती कराया गया था। बुखार होने के बाद बिलासपुर में 38 वर्षीय महिला को 6 अगस्त को भर्ती किया गया था। दोनों की मौत रविवार को हुई। दुर्ग के 57 वर्षीय मरीज की एम्स में सोमवार को मौत हुई। उसे भी सांस लेेने में दिक्कत थी। रायपुर व प्रदेश में कोराेना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। रायपुर में मरीजों की संख्या 4283 पहुंच गई है, जिसमें 1562 एक्टिव केस है। कोरोना से 45 लोगों की मौत भी हो चुकी है, जो प्रदेश में सबसे ज्यादा है। अंबेडकर में पीडियाट्रिक एचओडी डॉ. शारजा फुलझेले व कैंसर विशेषज्ञ डॉ. प्रदीप चंद्राकर के अनुसार राजधानी के गली-मोहल्लों में रोज नए मरीज मिल रहे हैं। यह चिंता की बात है। जरूरी ऐहतियात बरतकर संक्रमण से बचा जा सकता है, लेकिन लोग लगातार लापरवाही बरत रहे हैं। प्रदेश में दूसरी बीमारी वाले 75 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। जबकि 25 लोगों को कोरोना के अलावा कोई दूसरी बीमारी नहीं थी।
हेल्थ डायरेक्टर के पत्र पर भड़का आईएमए
हेल्थ डायरेक्टर ने शनिवार को सभी सीएमएचओ को पत्र लिखकर निजी अस्पतालों में भर्ती कोरोना के गंभीर मरीजों को बिना सूचना के सरकारी अस्पताल भेजने पर नाराजगी जताई थी। अब आईएमए ने मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री का पत्र लिखकर पूछा है कि रायपुर के अलावा किसी भी जिले में कोरोना जांच के लिए लैब नहीं है तो कहां जांच कराएं? आईसीएमआर से मान्यता प्राप्त लैब का कलेक्शन सेंटर बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, कांकेर, धमतरी व राजनांदगांव में खोला जाए। आईएमए ने पत्र में कहा है कि चिन्हित निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है, लेकिन हेल्थ डायरेक्टर ने सभी निजी अस्पतालों को कोरोना मरीजों का इलाज करने को कहा है। इस आदेश से कन्फ्यूजन की स्थिति है। इससे मरीजों में संक्रमण का खतरा है।

19 अगस्त तक बंद रहेंगे होटल और बार
आबकारी विभाग ने कोरोना के मद्देनजर 19 अगस्त तक होटल व बार बंद रखने का निर्णय लिया है। इस संबंध में सभी कलेक्टरों को व्यवस्था बनाने के लिए कहा गया है। लॉकडाउन के बाद से ही पूरे प्रदेश में होटल व बार बंद हैं। अनलॉक-1 के बाद शराब दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई, लेकिन होटल व बार अभी भी बंद रखने का फैसला लिया गया है।

एंटीजन किट से गली माेहल्लों में हो रही जांच
गली-मोहल्लों में शिविर लगाकर एंटीजन किट से संदिग्धों की जांच की जा रही है। जिन्हें सर्दी, खांसी, बुखार व सांस लेने में तकलीफ है, वे शिविर के अलावा एम्स व मेडिकल कॉलेज में जाकर सैंपल दे सकते हैं। अच्छी बात यह है कि एंटीजन किट से जांच में केवल आधे घंटे में रिपोर्ट आ जाती है। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो यह 100 फीसदी सही रिपोर्ट है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2