छत्तीसगढ़ में हालात:कोविड सेंटर में बिस्तरों की संख्या बढ़ेगी, सभी जिलों में घर पर बिना लक्षण वाले संक्रमितों का इलाज करने की तैयारी

तस्वीर रायपुर की है। बैठक में वित्त विभाग के एसीएस अमिताभ जैन, वन विभाग के पीएस मनोज पिंगुआ, पंचायत विभाग के पीएस गौरव द्विवेदी, पीसीसीएफ राकेश चतुर्वेदी, सीएम के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी और संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ शामिल हुए।
  • मुख्य सचिव आरपी मंडल ने रायपुर में ली अधिकारियों की बैठक, वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए अन्य जिले के अधिकारी भी जुड़े
  • अब हर जिले में बिना लक्षण वाले संक्रमितों का इलाज घर पर करने की भी तैयारी, जल्द ही जारी होगा आदेश

मुख्य सचिव आरपी मंडल ने कोविड सेंटर में बेड की संख्या बढ़ाने को कहा है। राजनांदगांव, बिलासपुर और अंबिकापुर के मेडिकल कॉलेज का चयन कोरोना सैंपल जांच के लिए किया गया है। सारी कागजी प्रक्रिया पूरी हो चुकी हैं। जल्द ही वहां जांच शुरू हो जाएगी। इन मुद्दों पर शहर के सिविल लाइंस स्थित चिप्स दफ्तर में आरपी मंडल ने अधिकारियों की बैठक ली। वीडियो कॉन्फ्रेंस की मदद से अन्य संभाग के कमिश्नर और कलेक्टर भी इस बैठक में शामिल हुए।

घर पर इलाज
मुख्यमंत्री के एसीएस सुब्रत साहू ने कलेक्टर्स को कोविड-19 के बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए होम-आइसोलेशन की अनुमति की गाइड-लाइन दी। इसके अनुसार अब सभी जिलों में प्रयोग के तौर पर इसकी अनुमति दी जा रही है। फिलहाल इस पर रायपुर और दुर्ग में काम हो रहा है। होम-आइसोलेशन की इच्छा जाहिर करने वाले ऐसे व्यक्तियों जिनके घर में पर्याप्त कमरे और कम से कम दो शौचालय हों, उन्हें ही इसकी अनुमति मिलेगी। होम-आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को सरकारी गाइड-लाइन की पालन कड़ाई से करना होगा। नियमों का उल्लंघन न करने का फॉर्म भी भरना होगा। ऐसे लोगों के घरों पर किसी की एंट्री नहीं होगी, स्टीकर भी लगाए जाएंगे।

त्योहारों को लेकर जवाबदारी तय
बैठक में कहा गया कि कलेक्टर्स को ईद, रक्षाबंधन और गणेश पूजा में भीड़ रोकने तथा शारीरिक-सामाजिक दूरी बनाए रखने स्थानीय स्तर पर व्यवस्थाएं करनी होगी। स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह ने बताया कि कोविड-19 पर नियंत्रण और इसके पीड़ित की पहचान के लिए जांच की क्षमता बढ़ाई जा रही है। इलाज और आइसोलेशन सुविधाओं का भी विस्तार किया जा रहा है। प्रदेश के तीन मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव, बिलासपुर और अंबिकापुर में स्थापित उच्च स्तरीय बीएसएल-2 लैब में आरटीपीसीआर जांच की अनुमति मिल गई है। जल्द ही सैंपल जांच शुरू हो जाएगी।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2