अब सावधानी बेहद जरुरी, बिना मास्क बाहर निकलने वालों पर हो सख्ती

रायपुर. सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए राज्य में प्रत्येक नागरिक के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है। बिना मास्क लगाए पाए जाने पर 100 रुपए, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर 100 रुपए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर 200 रुपए जुर्माने का प्रावधान किया है।

कोरोना से बचाव के लिए एकमात्र उपाय भी यही है फिरभी लोग इसे अनदेखी कर खुलेआम निमंत्रण दे रहे हैं। रायपुर में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा दिनोंदिन बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन नहीं करना इसकी मुख्य वजह मानते हुए लोगों से मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील कर रहे हैं। नगर निगम और पुलिस भी मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों पर लगातार कार्रवाई कर रही है फिर भी लोग अनदेखी कर रहे हैं।

हॉस्पिटल बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता का कहना है कि सार्वजनिक स्थलों में जाते समय सभी को मास्क और शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन करना चाहिए। पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीज और बच्चे, बुजुर्ग सार्वजनिक स्थल में ना जाएं। यूरोलॉजिस्ट डॉ.ललित शाह का कहना है कि लोग अब कोरोना वायरस संक्रमण कोलेकर पहले जैसे सजग नहीं हैं। लोग मास्क का उपयोग नहीं कर रहे और और सोशल डिस्टेंसिंग पर भी ध्यान नहीं दे रहे। उनका कहना है कि यही वक्त है जब लोगों को सचेत होने की जरूरत है।

डब्ल्यूएचओ के दिशा-निर्देश
* जहां संक्रमण ज्यादा है, वहां के लोगों को हर हाल में मास्क पहनना चाहिए। इसके साथ ही भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे रेलवे स्टेशन, बसस्टैंड, अस्पताल और दुकानों में भी मास्क पहनना बेहद जरूरी है।

* सभी स्वस्थ लोगों को तीन परतों वाला फैब्रिक मास्क पहनना अनिवार्य है। जो लोग बीमार हैं, वह ही केवल मेडिकल ग्रेड का मास्क पहनें।

* जिन जगहों पर संक्रमण का स्तर बहुत ज्यादा है, वहां सभी लोगों को मेडिकल ग्रेड का मास्क इस्तेमाल करना चाहिए। अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मियों के साथ ही मरीजों और वहां मौजूद सभी लोगों को मेडिकल-ग्रेड का मास्क पहनना चाहिए।

नवजात के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बेहतर विकल्प
स्वास्थ्य विभाग के संभागीय संयुक्त संचालक व प्रवक्ता डॉ.सुभाष पांडेय का कहना है जिस तरह से वयस्क को कोरोना वायरस का संक्रमण हो सकता है, उसी तरह से नवजात और कम उम्र के बच्चों को भी हो सकता है। नवजातों और छोटे बच्चों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए सामाजिक दूरी ही सबसे बेहतर विकल्प है। नवजात या 1 वर्ष तक के बच्चे जिन्हें बहुत आवश्यक है बाहर ले जाना तो उन्हें मास्क पहनें मगर नाक से थोड़ा सा स्पेस देकर। 2 वर्ष के ऊपर के बच्चों को बाहर ले जाया जा रहा है तो उन्हें मास्क पहनाना चाहिए।

पुलिस ने 3 माह 13 दिन में वसूले 720600 रुपए

निगम के कर्मचारियों ने मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने और थूकने वालों पर कार्रवाई कर रही है। मार्च से 14 जुलाई तक निगम ने मास्क नहीं लगाने वाले 19015 पर कार्यवाई और 1511462 रुपए, थूकने और गंदगी फैलाने वाले 998 पर कार्रवाई कर 150570 रुपए व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वाले 1539 पर कार्रवाई कर 209170 रुपए जुर्माना किया है। यातायात पुलिस ने अप्रैल में 1654 लोगों से 330800 रुपए, मई में 523 पर कार्रवाई कर 104600 रुपए, जून में 819 लोगों से 162600 रु. व 13 जुलाई तक 613 लोगों पर कार्रवाई कर 1222600 रुपए वसूला है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2