रमन सिंह बोले- चुनाव से पहले भूपेश के पास झीरम के सबूत थे, रोजगार और शराबबंदी का ब्लू प्रिंट था, अब कुछ नहीं

  • कांग्रेस की सरकार को घेरने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन के आक्रामक तेवर
  • कांग्रेस का जवाब- सरकार 5 साल के लिए बनी है, हर वादा पूरा किया जाएगा

रायपुर.

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह से सरकार के कामकाज पर सवाल उठाए हैं। रविवार को उन्होंने कहा कि 18 महीने पहले जब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए भूपेश बघेल जन घोषणा पत्र जारी किया तब कई तरह के वादे किए। बघेल ने कहा था कि उनके पास झीरम कांड के सबूत हैं। शराब बंदी का रोड मैप तैयार है, 2500 रुपए बेरोजगारी भत्ता और 2500 रुपए किसानों को समर्थन मूल्य देने की योजना है। मगर, इन बातें से अब इंकार रहे हैं। आज क्यों योजनाओं का क्रियान्वयन नहीं कर रहे। इनके वादों का इंतजार करते हुए युवा आत्महत्या करने पर आमादा हैं।

कांग्रेस का जवाब
रमन सिंह के इस बयान के जवाब में कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी प्रतिक्रिया आई। पार्टी की तरफ से कहा गया कि 15 साल तक वादाखिलाफी प्रदेश की जनता के साथ डॉ. रमन सिंह की सरकार ने की थी। रमन सिंह ने आदिवासियों से वादा किया था कि 10 लीटर दूध देने वाली गाय दी जाएगी, हर परिवार से एक को सरकारी नौकरी, मिलेगी, बेरोजगार लोगों को 500 रुपए भत्ते के तौर पर दिया जाएगा। वे किस नैतिकता से डेढ़ साल में कांग्रेस सरकार पर आरोप लगा रहे हैं। कांग्रेस ने जन घोषणा पत्र के 36 में से 22 वादों को पूरा किया है। 5 साल की सरकार है, बाकी बचे सालों में सभी वादों को पूरा किया जाएगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2