रायपुर के आर्यन को मिले 98.4 परसेंट, पुराने पेपर सॉल्व करने की प्रैक्टिस की वजह से तीन सब्जेक्ट में मिले 100 में से 100 मार्क्स

  • रिजल्ट आने के बाद स्टूडेंट्स और पैरेंट्स बेहद खुश, टीचर्स ने भी फोन पर दी बधाई
  • इस रिपोर्ट में पढ़िए अच्छे मार्क्स हासिल करने वाले स्टूडेंट्स को कैसे मिली कामयाबी

शहर के डीपीएस स्कूल में पढ़ने वाले आर्यन अग्रवाल को 10वीं कक्षा की सीबीएससी परीक्षा में 98.4 परसेंट मार्क्स मिले हैं। प्रदेश में सबसे ज्यादा स्कोर हासिल करने वाले स्टूडेंट्स में शामिल आर्यन ने बताया कि एग्जाम के वक्त फोकस होकर तैयारी की इस वजह से अच्छे मार्क्स आए। अार्यन को गणित, संस्कृत और सोशल साइंस में 100 में से 100 मार्क्स मिले हैं। आर्यन के मुताबिक पिछले साल के पेपर्स सॉल्व करने से ये मुमकिन हो पाया। अब आगे की पढ़ाई फिजिक्स, कैमेस्ट्री, मैथ्स स्ट्रीम में करेंगे। आगे चलकर कैमिस्ट्री में रिसर्च करना चाहते हैं। आर्यन ने बताया कि हर रोज घंटों-घंटों की पढ़ाई उन्होंने नहीं की। एग्जाम के वक्त फोकस किया। जो पढ़ा पूरा ध्यान लगाकर पढ़ा,इसलिए तैयारी अच्छी हुई। 

आरुषी देख नहीं सकती, बनाएंगी ऐसा सॉफ्टवेयर जो ब्लाइंड्स की मदद करे  

तस्वीर अरुषी की है। लैपटॉप पर वॉइस सॉफ्टवेयर की मदद से भी वो अपनी पढ़ाई करती हैं।

एनएच गोयल स्कूल में पढ़ने वाली आरुषी रायका देख नहीं सकतीं। मगर अपनी मेहनत और फोकस होकर पढ़ने की आदत की वजह से 92 परसेंट मार्क्स हासिल किए हैं। दैनिक भास्कर से बात-चीत में आरुषी ने बताया कि हर दो घंटे की पढ़ाई के बीच 15 मिनट का ब्रेक लेती थीं। इस दौरान म्यूजिक और बुक्स पढ़कर खुद को दोबारा पढ़ाई के लिए तैयार करती थीं। पैरेंट्स ने उन्हें मैक बुक दिलाने का भी वादा किया था। यह भी मन लगाकर पढ़ने की बड़ी वजह थी। आरुषी ने बताया कि वो आगे चलकर कंप्यूटर साइंस इजीनियरिंग करना चाहती हैं। कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग को समझना उन्हें अभी भी बेहद पसंद है। आगे चलकर वो एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाना चाहती हैं, जो ब्लाइंड लोगों की आम जिंदगी में मदद करे। रास्ते में आने वाली रुकवटों के बारे में बताए। 

चार साल से टॉप कर रहीं हैं प्रियंका इस बार भी कायम रही परंपरा 

तस्वीर प्रियंका की है। म्यूजिक में भी इनकी दिलचस्पी है। तैयारी के वक्त पढ़ाई से फोकस ना हटे इसका भी ख्याल रखा।

एनएच गोयल स्कूल की प्रियंका अग्रवाल को 97.6 मार्क्स मिले हैं। ने बताया कि ज्यादा देर तक पढ़ाई इन्हें भी बोरिंग ही लगती थी। मगर दोस्तों के साथ ग्रुप स्टडी करने की वजह से मजा आने लगा। क्लासमेट के साथ पढ़ने की वजह से  बात-चीत भी पढ़ाई की ही होती थी। स्कूल में पिछले 4 सालों से प्रियंका टॉप कर रही हैं। इस बार भी यह सिलसिला कायम रहा। अब आगे की पढ़ाई कॉमर्स स्ट्रीम में करेंगी। फायनेंस के सेक्टर में करियर बनाना चाहती हैं। सोशल साइंस में 100 और मैथ में 99 नंबर लाने वाली प्रियंका ने बताया  कि रात के वक्त बैडमिंटन खेलकर खुद को रिफ्रेश कर लिया करती थीं। आंसर को समझाकर, प्वाइंट के साथ लिखने की वजह से मार्क्स अच्छे आए। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2