अफसरों को किया फोन, कहा- सरेंडर करना है; कैंप बुलाकर 5 को मुख्यधारा में जोड़ा

  • बोदली इलाके में पहली बार डिप्टी कमांडर सहित 5 इनामी नक्सलियों का सरेंडर, इधर सरेंडर नक्सली ने किया खुलासा- सेंट्रल कमेटी के नक्सली खुद नजर बनाकर रखे हैं


दंतेवाड़ा. बोदली इलाके में पहली बार डिप्टी कमांडर सहित 5 इनामी नक्सलियों का सरेंडर हुआ है। इस बार सरेंडर की कहानी भी थोड़ी अलग है, हिंसा से तंग आ चुके बोधघाट इलाके के तोड़मा व बाकेली के 5 नक्सलियों ने प्लानिंग की कि उन्हें सरेंडर करना है। सोमवार को बारसूर थाने में नक्सली कमलेश उर्फ मोटू ने फोन कर कहा कि साहब सरेंडर करना है, मेरे साथ डिप्टी कमांडर सहित कुल 5 लोग हैं।
इसकी जानकारी एसपी डॉ अभिषेक पल्लव को दी गई। मंगलवार को बोदली सीएएफ कैंप में एसपी डॉ अभिषेक पल्लव, सीआरपीएफ डीआईजी डीएन लाल की मौजूदगी में इनका सरेंडर कराया गया। उन्हें शपथ दिलाई गई, प्रोत्साहन राशि दी गई।
दरअसल ये तब संभव हुआ जब पुलिस ने लोन वर्राटू अभियान शुरू हुआ। सरेंडर करने वालों में बोधघाट एलओएस डिप्टी कमांडर 3 लाख का इनामी जगदीश उर्फ रतन कवासी, एलओएस सदस्य 1 लाख का इनामी कमलेश उर्फ मोटू, जनताना सरकार अध्यक्ष एक लाख का इनामी दिनेश उर्फ मनीराम, जनमिलिशिया सदस्य शिवनाथ उर्फ मनकू व बालकू कश्यप शामिल हैं। ये ब्लास्ट, फायरिंग, आगजनी जैसी घटनाओं में शामिल रहे हैं। सरेंडर के दौरान सीआरपीएफ 195 बटालियन के सीओ राकेश कुमार सिंह, एएसपी राजेंद्र जायसवाल, असिस्टेंट कमांडेंट आशीष मिश्रा आदि थे।

बोले- साहब, डीआरजी में शामिल कर लो
बोदली सीएएफ कैंप में जब सरेंडर नक्सलियों से एसपी ने पूछा कि आपलोग आगे क्या करना चाहते हैं? खेती बाड़ी, रोजगार के अन्य साधन का भी विकल्प रखा। इन सबने कहा कि खेती बाड़ी नहीं करनी है साहब डीआरजी टीम में शामिल करा दो इसी में काम करेंगे। सरेंडर करने वाले नक्सलियों ने बताया कि तोड़मा, बाकेला गांवों के और भी लोग नक्सल संगठन में हैं, उन्हें हम वापस लाएंगे।

अखबारों में पढ़ा था कि सरेंडर करने वालों को ट्रैक्टर दे रहे: सरेंडर करने वाले नक्सली दिनेश उर्फ मनीराम, शिवनाथ ने कहा कि अखबारों में हमने पढ़ा था कि सरेंडर करने वालों को कई सारी सुविधाएं सरकार दे रही है। कलेक्टर ट्रैक्टर और कई सारे रोजगार दे रहे हैं। ये अब हमें अच्छा लगा।

नक्सलगढ़ में एसपी का वाहन फंसा: बोदली तक पहुंचना भी किसी के लिए चुनौती से कम नहीं था। यहां पुसपाल व बोदली कैंप के बीच खराब रास्ते घोटिया मोड़ पर एसपी की गाड़ी कीचड़ में फंस गई। जिसे काफी मशक्कत के बाद निकाला गया। ये वही जगह है जहां हाल ही में फायरिंग, ब्लास्ट हो चुके हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2