दुनिया की सबसे ठंडी जगह पर भयावह आग, वैज्ञानिक इस बदलाव से परेशान

धरती की वो जगह जहां तापमान माइनस 68 डिग्री सेल्सियस तक जाने का रिकॉर्ड है. आज वह जगह आग की लपटों में घिरी हुई है. तापमान इतना बढ़ा हुआ है जितना आज तक कभी नहीं था. इस जगह पर चारों तरफ बर्फ, ठंडे समुद्र की लहरें हैं. लेकिन इसकी जमीन पर बसे जंगलों में आग लगी है. धुएं के बादल कई किलोमीटर तक आसमान में फैले हुए हैं. इस पर्यावरणीय बदलाव को देखते हुए दुनिया भर के वैज्ञानिक परेशान हैं.
ये जगह साइबेरिया के पूर्वी इलाके में स्थित है. यानी रूस का वर्खोयान्स्क कस्बा. यहां 20 जून को इतिहास का सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया. पारा था 38 डिग्री सेल्सियस. जबकि, यही वो जगह हैं जहां सबसे ज्यादा सर्दी पड़ती है. पारा माइनस 67 तक चला जाता है. इस नक्शे में दिखाया गया है कि कैसे आर्कटिक क्षेत्र में साइबेरिया समेत अन्य इलाकों की जमीन गर्म होती जा रही है.
इससे पहले इस जगह का तापमान 37.3 डिग्री सेल्सियस 1988 में हुआ था. नासा गोडार्ड इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस स्टडीज के निदेशक गैविन स्मिट ने बताया कि आर्कटिक के इस क्षेत्र में तापमान का इतना बढ़ जाना ठीक नहीं है. 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2