टॉपर्स के नाम तक ठीक से नहीं पढ़ सके शिक्षा मंत्री, प्रज्ञा को कहा प्रयाग तो तनु को बताया तांदू

chhattisgarh board result 2020 : छत्तीसगढ़ बोर्ड की परीक्षाओं में इस साल दसवीं में प्रज्ञा कश्यप तो बारहवीं में टीकेश वैष्णव ने टॉप किया है. हालांकि रिजल्ट का ऐलान करते वक्त शिक्षा मंत्री टॉपर्स के नामों का गलत उच्चारण कर बैठे.

नई दिल्ली. प्रयाग, तांदू और प्रसन्ना... यूं तो छत्तीसगढ़ बोर्ड (Chhattisgarh Board) के दसवीं और बारहवीं के रिजल्ट से इनका कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन राज्य के शिक्षा मंत्री के शब्दों पर गौर करें तो बोर्ड परीक्षाओं में इन सभी ने टॉपर्स लिस्ट में जगह बनाई है. मसला थोड़ा पेचीदा लग रहा है, लेकिन हम आपको आसान शब्दों में इसे समझाते हैं. दरअसल, मंगलवार को छत्तीसगढ़ बोर्ड के दसवीं और बारहवीं के रिजल्ट का ऐलान किया गया. घोषणा खुद राज्य के शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने की. मगर जब प्रेस कांफ्रेंस में टॉपर्स के नामों को ऐलान करने की बारी आई तो शिक्षा मंत्री स्टूडेंट्स के नाम लेने में अटक गए.

तनु यादव बन गईं तांदू!

दरअसल, गलत नाम लेने का ये सिलसिला शुरू हुआ 12वीं की थर्ड टॉपर तनु यादव के नाम से. शिक्षा मंत्री ने जब पत्रकारों को बताया कि 12वीं में तीसरे स्थान पर तांदू यादव रही हैं तो हर किसी ने दोबारा नाम लेने को कहा. इस पर भी शिक्षा मंत्री ने तांदू नाम ही दोहराया. बाद में जब प्रेमसाय सिंह टेकाम ने खुद ही स्पेलिंग बताई तो जाकर सबने कहा कि ये तांदू नहीं तनु है.
छत्तीसगढ़ बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में मुंगेली की प्रज्ञा कश्यप ने 100 प्रतिशत अंकों के साथ टॉप किया. प्रज्ञा ने 600 में से 600 अंक हासिल किए. मगर जब शिक्षा मंत्री ने दसवीं के टॉपर्स के नाम बताने शुरू किए तो प्रज्ञा को प्रयाग कश्यप कहकर संबोधित किया. यहां साथ बैठे माध्यमिक शिक्षा महाविद्यालय के सचिव प्रोफेसर वीके गोयल ने सही नाम लेने में उनकी मदद की.

प्रशंसा राजपूत को बताया प्रसन्ना
प्रज्ञा कश्यप के बाद शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने 10वीं क्लास की सेकंड टॉपर के बारे में बताया. इस दौरान उन्होंने प्रशंसा राजपूत को प्रसन्ना कह डाला. इस बार भी वीके गोयल ने उन्हें दुरुस्त किया और बताया कि प्रशंसा राजपूत ने 10वीं क्लास में दूसरा स्थान हासिल किया है.
इतना ही नहीं, छत्तीसगढ़ के शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम को 12वीं के टॉपर टिकेश वैष्णव का नाम लेने भी परेशानी पेश आई. पत्रकारों को बताते हुए उन्होंने टिकेश तो कह दिया, लेकिन वैष्णव पर ठिठक गए. ​बाद में माध्यमिक शिक्षा महाविद्यालय के सचिव प्रोफेसर वीके गोयल ने टिकेश का पूरा नाम पत्रकारों को बताया.

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2