इस बार भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा पिछले कई सालों से काफी अलग है. भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भाई बलराम की रथयात्रा के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की मौजूदगी नहीं है.