महासमुंद : गौठान ग्रामों में महिला स्व-सहायता समूह द्वारा जैविक खाद उत्पादन कर प्राप्त कर रहें हैं आमदनी

जिले के 55 गौठान ग्रामों में 01 अप्रैल 2020 से 11 मई 2020 तक वर्मी बेड स्थापित 55 गौठान ग्रामों के महिला स्व-सहायता समूह द्वारा 764.25 क्विंटल जैविक खाद, वर्मी कम्पोस्ट खाद का उत्पादन किया जा चुका है। जिससे 145.20 क्विंटल खाद का विक्रय महिला समूह द्वारा उद्यानिकी विभाग एवं वन विभाग को कर एक लाख 03 हजार 700 रूपए की आमदनी अर्जित कर चुके है। कृषि विभाग के उपसंचालक श्री एस.आर. डोंगरे ने बताया कि महासमुंद विकासखंड के प्रमुख गौठान ग्राम में से कछारडीह में 08 क्ंिवटल., कौंदकेरा मे 05 क्ंिवटल, कोना में 06 क्विंटल, खट्टी में 06 क्विंटल, बरोण्डाबाजार में 02 क्विंटल वर्मी खाद विक्रय के लिए उपलब्ध है। इसी तरह बागबाहरा विकासखंड के ग्राम जोरातराई में 40 क्विंटल, बसुलाडबरी, साल्हेभांठा, एवं छिबर्रा में एक-एक क्विंटल, टेमरी में 02 क्विंटल, बांदूमुड़ा में 55 क्विंटल, मोहंदी में 20 क्विंटल, तिलईदादर में 20.60 क्विंटल, करहीडीह, बागबाहरा कला, मनबाय एवं बोड़री दादर में 4-4 क्विंटल जैविक खाद उपलब्ध है।
इसी तरह पिथौरा विकासखंड के ग्राम परसापाली में 100 क्विंटल उत्पादित खाद में से 40 क्विंटल खाद उद्यानिकी विभाग द्वारा 34 हजार रूपए का क्रय किया गया। गड़बेड़ा में 160 क्विंटल उत्पादित खाद में से 40 क्विंटल खाद का क्रय उद्यानिकी विभाग द्वारा 34 हजार रूपए का किया गया। शेष 120 क्विंटल उपलब्ध है। बसना विकासखंड के ग्राम नवागांव में 102 क्विंटल उत्पादित खाद में से 40 क्विंटल का क्रय उद्यानिकी विभाग द्वारा 34 हजार रूपए का किया गया एवं 62 क्विंटल खाद शेष उपलब्ध है। ग्राम आमापाली में 15 क्विंटल, सकरी, संतपाली, बिछिया में 4-4 क्विंटल एवं चिमरकेल 24 क्विंटल जैविक खाद उपलब्ध है एवं 02 क्विंटल का विक्रय कर एक हजार 700 रूपए आय स्व-सहायता समूह को प्राप्त हुआ हैं। इसी प्रकार सरायपाली विकासखंड के ग्राम पाठसेन्द्री गौठान में 20 क्विंटल, कुसमीसरार, सिरबोड़ा, राफेल एवं सिरपुर में 02-02 क्विंटल, वर्मी खाद उपलब्ध है। मुधा, तोषगांव, बेलमुण्डी एवं कलेण्डा (छिबर्रा) में 06-06 क्विंटल जैविक खाद विक्रय के लिए उपलब्ध है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2