महासमुंद : स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत 109 ग्राम पंचायतों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्य प्रारंभ

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) जिला महासमुन्द के द्वारा कोविड-19 महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए तथा ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन पर कलेक्टर श्री सुनील कुमार जैन के निर्देश पर एवं जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ रवि मित्तल के मार्गदर्शन में स्वच्छाग्राही स्व-सहायता समूह के सदस्यों ने मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता चलाया जा रहा है। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि निर्माण संबंधित कार्य वर्षा के पूर्व पूर्ण कराएं। जिले में ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन के लिए 109 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है। जिसमें तीन एन.जी.टी. ग्राम पंचायत शामिल हैं। इनमें महासमुंद विकासखंड के ग्राम खट्टी, सरायपाली के केन्दुआ एवं बसना विकासखंड के ग्राम खटखटी में एन.आर.एल. के स्वच्छाग्राही स्व-सहायता समूह के द्वारा स्वच्छता प्रचार-प्रसार कार्य एवं ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन पर कचरा संग्रहण कर सुरक्षित निपटान कार्य किया जा रहा है। जय शक्ति महिला स्व-सहायता समूह के श्रीमती गायत्री साहू, पार्वती साहू, चन्द्रकला साहू, सुकवन्ति साहू , किर्तनबाई दीवान द्वारा सुरक्षित उपकरण डेªस, मास्क पहनकर कचरा एकत्रित कर कचरा संग्रहण सेड में उचित निपटान किया जा रहा है।
जिला पंचायत के शाखा प्रभारी श्री प्रथम अग्रवाल ने बताया कि शीघ्र ही जिले के 109 ग्राम पंचायातों में ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन के लिए कचरा संग्रहण एवं कचरे का सुरक्षित निपटान कार्य कराया जाएगा। वर्ष 2020-21 में भी फेस-2 के गौठानों वाले ग्राम पंचायतों को कार्ययोजना में शामिल किया जाएगा। स्वच्छ भारत मिशन(ग्रामीण) अंतर्गत माहवारी स्वच्छता प्रबंधन हेतु स्व-सहायता समूह को सेनेटरी नेपकीन उपलब्ध कराकर कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। जिसमें 75 स्व-सहायता समूहों का चयन किया गया है। संबंधित कार्य के लिए एन.आर.एल.एम. द्वारा समूहों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिससे महिला समूह 4-5 ग्राम पंचायतों में जाकर जागरूकता का कार्य करेंगे।
जनपद पंचायत महासमुन्द जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत खट्टी में कोविड-19 को मात देने हेतु स्वच्छाग्राहियों के द्वारा कोरोना संक्रमण जागरूकता संबंधी दीवाल लेखन कार्य जिसमें ग्राम के चैक चाराहौं पर, सार्वजनिक स्थल, पंचायत भवन, पी.डी.एस. गोदाम, सब्जी बाजार आदि के आप-पास कोरोना संक्रमण रोकने एवं लोगों को जागरूक करने के लिए दीवाल लेखन कार्य कराया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग के पालन कराने के लिए स्वच्छाग्राहियों महिलाओं के द्वारा ग्रामीण स्तर पर पी.डी.एस. वितरण के दौरान, राशन दुकान एवं सब्जी दुकानों एवं जल स्त्रोतों के आस-पास गोल एवं चैकोर आकृति बना कर ग्रामीणों को एक साथ झुण्ड में रहने से मना किया जा रहा है। साथ ही यह समझाईश दी जा रही है कि आपसी बातचीत के दौरान एक दूसरे से दो मीटर की दूरी रखी जाएं। जयशक्ति महिला स्व सहायता समूह के अध्यक्ष गायत्री साहू , सचिव पार्वती साहू और अन्य सदस्य चन्द्रकला साहू, सुकवन्ति साहू , किर्तनबाई दिवान द्वारा साबुन से हाथ धोने संबंधी कार्य कोनोरा संक्रमण के प्रभाव को रोकने के लिए बार-बार साबुन से हाथ धोने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया जा रहा है।
व्यक्तिगत शौचालय का उपयोग सुनिश्चित किया जाए जिससे कि खुले में बीमारी ना पनपे। पीने के पानी को उॅचाई पर ढंककर रखंे। पानी निकालते समय डंडी वाले लोटा का इस्तेमाल करें ताकि हाथ कि उंगलियांॅ पानी में ना डूबें जिससे कि संक्रमण रोका जा सके। बाहर खुले में न थूके ग्राम वासियों से अपील की जा रही हैे कि बाहर खुले में ना थूकंे। जिन्हें खांसी, सर्दी, बुखार के लक्षण है वे मास्क का उपयोग करें। ग्रामवासियों को मास्क का उपयोगिता बताया जा रहा है ताकि  बात करने पर, छिंकने पर, खांसने पर संक्रमण का खतरा एक दूसरे को न हो पाए। इस प्रकार से जिले में स्वच्छता गतिविधियों में स्वच्छाग्राही स्व-सहायता समूह के द्वारा बढ़ चढ़कर अपनी सहभागिता दी जा रही है।  

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post

RVKD NEWS

Ads1

Facebook

Ads2